Dhirubhai Ambani

यह स्टोरी एक ऐसे व्यक्ति की है । जिसने गरीबी के सभी पड़ाव को देखा है । और एक विशाल संपत्ति बनाने में कामयाब हुआ है । धीरूभाई अंबानी (Dhirubhai Ambani) एक गरीब और निर्धन परिवार से तालुकात रखते थे । उन्होंने सिर्फ कक्षा 10 तक पढ़ाई की । निर्धनता की वजह से उन्हें रेडी भी लगानी पड़ी थी । धीरूभाई अंबानी का जन्म 28 दिसंबर 1932 को हुआ । कुछ समय बाद वह संघर्षों से लड़ने लगे । और अलग-अलग छोटे-मोटे व्यापार करने के पश्चात अपना गुजर-बसर चलाने लगे । एक दिन वह अपने भाई “रमणीक लाल” के पास विदेश चले गए हैं । और वहां पर उन्होंने वह एक पेट्रोल पंप पर 300 रुपये की नौकरी पर काम करने लगे ।

कुछ समय काम वह काम किया । और मार्केट को अच्छी तरीके से समझने के बाद उन्होंने यह अंदाजा लगाया । कि मसालों तथा कपड़ों का व्यापार बहुत ही सफल हो रहा है । जिस कारण उन्होंने भारत आकर “रिलायंस कॉमर्स कारपोरेशन” की स्थापना की । जिसमें यह मुख्यता भारतीय मसालों को विदेश में पहुंचाते थे । उसके पश्चात फिर “रिलायंस टैक्सटाइल्स कारपोरेशन” की स्थापना की । जिसमें वह मुख्यता “खादी” के कपड़ों का निर्माण किया जाता था । इन सभी प्रोडक्ट का विदेश में सप्लाई किया जाने लगा । उसके पश्चात अनिल धीरूभाई अंबानी ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा ।

धीरे-धीरे उनका बिजनेस ऊंचाई पर जाने लगा । और वह बिजनेसमैन के रूप में गिने जाने लगे । अंबानी ने कई अलग-अलग बिजनेस ट्राई करना शुरू कर दिया । उन्होंने होटल खोलें, टेलीकॉम सेक्टर में हाथ आजमाया । जिस कारण वह आज इतनी बड़ी कंपनी बना पाए हैं । आज रिलायंस ग्रुप ऑफ इंडस्ट्री एशिया की नंबर 1 कंपनी है । जिसने टेलीकॉम सेक्टर में तहलका मचा कर रखा है । हालांकि, इसके पीछे अनिल धीरूभाई अंबानी का महत्वपूर्ण योगदान भुलाया नहीं जा सकता । धीरू भाई ने अपनी कंपनी को तरक्की में ले जाने के लिए विभिन्न संघर्षों का सामना किया है ।

और उनकी इस मुहिम को उनके बेटे मुकेश अंबानी निभा रहे हैं । आज वह एशिया के नंबर 1 अमीर लोगों में गिने जाते हैं । धीरूभाई अंबानी (Dhirubhai Ambani) से लेकर मुकेश धीरूभाई अंबानी तक, यह कंपनी सदैव सर्वश्रेष्ठ पर ही रही है । हालाकि कंपनी ने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं । लेकिन लगातार संघर्ष ही सफलता की कुंजी है । जो इसने का दिखाया है ।

साल 2022 चल रहा है । और इन दिनों भारत तथा एशिया में केवल अंबानी के टेलीकॉम सेक्टर की ही चर्चा हो रही है । क्योंकि इन्होंने भारत के 70% लोगों को इंटरनेट प्रोवाइड किया है । इन्होंने जब से “जिओ” को लांच किया । भारत में इंटरनेट में बहुत तेजी से वृद्धि आ गए । उसके पश्चात 4G डाटा सस्ता हो गया । जिस कारण भारत एक डिजिटल प्रगति की ओर आगे बढ़ने लगा । इसी प्रकार निरंतर कंपनी आगे बढ़ती जा रही है ।

यह भाग केवल अंबानी की एक संक्षिप्त रूप में किस प्रकार इस कंपनी ने तरक्की किया । उसको बताने का एक सफल प्रयास किया गया है । हालांकि यह अंबानी स्टोरी और उनका संघर्ष बहुत बड़ा है । लेकिन यह इसका संक्षिप्त रूप है । यकीनन इसका छोटा और संक्षिप्त रूप आपको पसंद आया होगा ।

ये भी पढे ……. पारले जी बिस्कुट की सक्सेस स्टोरी में बड़े ही संघर्ष छिपे हैं । जिसका कुछ हिस्सा इस भाग में उजागर किया गया है ।

3 thoughts on “धीरूभाई अंबानी परिवार की सक्सेस स्टोरी | संक्षेप में जबर्दस्त मोटीवेसन |”

Leave a Reply

Your email address will not be published.