salim khan success story

फिल्म इंडस्ट्री में काम करने के लिए “सलीम खान (salim khan)” आए थे । वह पहले एक अभिनेता बनना चाहते थे । लेकिन वह इस इंडस्ट्री में एक अभिनेता के रूप में सफल नहीं हुए । बल्कि एक लेखक के रूप में बेहद प्रसिद्ध हुए । चलिए फिर, इस सफर को विस्तार पूर्वक समझते हैं ।

सलीम खान का जन्म 24 नवंबर 1935 में मध्य प्रदेश इंदौर में हुआ । इनके पिता अब्दुल्ला रशीद खान पुलिस में डीआईजी अवसर में रहे । माता का छोटे ही उम्र में निधन हो गया था । जिस कारण इन्होंने पिता की देखरेख में जीवन व्यतीत किया । सलीम ने “सेंट्रल स्कूल” से प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की । उसके पश्चात वह “होलकर कॉलेज” से बीए किया । और इन्होंने मास्टर डिग्री भी प्राप्त की ।

जब इंदौर में एक डायरेक्टर ने देखा तो, उन्हें 400 रुपये फीस पर मुंबई बुला लिया । और वह दिन सलीम खान के इस प्लग स्ट्रगलिंग के दी थे । जिस कारण सलीम खान मुंबई आ गए । वह फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ गए । उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में अलग-अलग छोटे-छोटे रोल किए । लेकिन वह एक अभिनेता के रूप में फिट ना हो सके । जिस कारण उन्होंने अभिनेता बनने का विचार छोड़ दिया ।

उनकी मुलाकात फिल्म “सरहदी लुटेरा” के सेट पर “जावेद अख्तर (Javed Akhtar)” से हुई । यह दोनों एक बहुत ही अच्छे दोस्त बन गए । जावेद अख्तर फिल्मों में राइटर थे । और वह फिल्मों के लिए कहानियां लिखा करते थे । उन्हीं से प्रेरणा पाकर सलीम ने भी फिल्मों के लिए लिखना शुरु कर दिया ।

देखते देखते सलीम ने कई प्रसिद्ध फिल्मों की कहानियां लिखी । जैसे “हाथी मेरा साथी”, “यादों की बारात”, “जंजीर”, “शोले”, “डॉन”, “काला पत्थर”, “क्रांति” जैसी सुपरहिट फिल्मों की कहानी लिखकर सलीम खान ने अपना परचम बॉलीवुड इंडस्ट्री में लहरा दिया ।

ये भी पढे….. अभिनेता “नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी” की सफलता की स्टोरी

उन दिनों जावेद अख्तर और सलीम खान की जोड़ी एक लेखक के तौर पर लोगों को खूब पसंद किया गया । इन्होंने कई फिल्में साथ में लिखी । जिस कारण इन्हें सर्वाधिक ‘पेड राइटर’ के रूप में गिना गया । और आज भी वह एक प्रसिद्ध राइटर हैं । हालांकि, इन दिनों वह अपने पारिवारिक जीवन में व्यस्त रहते हैं ।

salim khan

सलीम खान का व्यक्तिगत जीवन में कई उतार-चढ़ाव रहे हैं । उन्होंने 1964 में “सुशीला चरक (Sushila Charak)” से विवाह किया । जिसका नाम बाद में बदल कर उन्होंने “सलमा (salma)” कर दिया । उनसे 3 बेटा जन्मे सलमान खान( salman khan), सोहेल खान (sohel khan), अरबाज खान (arbaj khan) जिसमें सलमान सबसे बड़े हैं । और आज बॉलीवुड इंडस्ट्री के प्रसिद्ध अभिनेता है ।

उस दौर में सलीम खान बहुत ही पसंदीदा राइटर के रूप में गिने जाते थे । उन्होंने 1980 में “हेलन (helen)” को देखा । और उनसे उनको प्यार हो गया । जिस कारण उन्होंने हेलन से विवाह कर लिया । और आज दोनों ही परिवार एक साथ रहता है । और खुशी-खुशी हर त्यौहार में मीडिया तथा सोशल मीडिया में दिखाई देता है ।

सलीम खान एक बहुत ही प्रसिद्ध राइट रहे हैं । और आज भी सलमान यदि किसी भी फिल्म करते वक्त फसते हैं । तो अपने पिता की सलाह लेना नहीं भूलते है । यह वाक्य सलमान खान ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि, उन्होंने भारत में अधिकतर प्रसिद्ध फिल्मों के लिए डायलॉग और सलाह दी है ।

जैसे फिल्म “बाजीगर” में “अब्बास मस्तान (Abbas–Mustan)” को उन्होंने कहानी का मेन मुखिया एक मां होगा । यह बताया जिस कारण बाजीगर सुपर डुपर हिट साबित हुई । और “शाहरुख खान (Shah Rukh Khan)” को भी इससे पहचान मिली ।

ये भी पढे….. कई बार “रेमो डीसूजा” को काले होने की वजह से झेलना पड़ा था, रिजेक्शन का सामना । आप भी जाने क्या थी वह वजह ।

One thought on “सलीम खान बनना चाहते थे अभिनेता, लेकिन बन गए लेखक | आप भी जाने पूरी स्टोरी |”

Leave a Reply

Your email address will not be published.