Gold coins of 1812 found in Jaunpur

उत्तर प्रदेश की इस घटना ने कई लोगो को अचंभित कर दिया की दिया । उत्तर प्रदेश के जौनपुर में शौचालय की खुदाई कर रहे एक मजदूर को एक तांबे का कलश मिला । जिसमें कई ब्रिटिश शासन प्रणाली के सिक्के पाए गए । ये सिक्के ब्रिटिश शासन प्रणाली जिसे 1812 के शासनकाल का बताया जा रहा है ।

यह घटना हाल ही के कुछ दिनों में घटी है । जिसमें जौनपुर में हड़कंप मच गया है । एक स्थानीय निवासी ने कुछ श्रमिक मजदूरों को अपने घर के बाहर शौचालय की खुदाई करवाने के लिए गड्ढा करने के लिए बुलवाया । उसके पश्चात लगभग 4 फुट का गड्ढा हो जाने के बाद, मजदूर के फावड़ा से एक कलर्स पर टकराता है । जिस पर उस मजदूर और उसके साथ काम कर रहे कुछ और भी मजदूर आपस में सलाह कर लेते हैं । और मालिक से उस दिन काम ना करने के लिए मना लेते हैं ।

Gold coins

यहां पर मजदूर उस कलश ( pot) को तथा उसमें उपस्थित सिक्कों को पूरी तरह हड़पना चाहते थे । अगले दिन वह बहुत ही जल्दी आकर उस गड्ढे को खोदना शुरू कर देते हैं । सुबह का लगभग 5:00 बजा होगा और मजदूर मालिक के घर पर आकर गड्ढा खोदने लगते हैं । जिसमें सभी मजदूर पहले से ही सलाह बना चुके थे । उन्होंने इस कलश को निकाला और आपस में सभी सिक्के बांटने लगे ।

ये भी पढे………. स्कूल के इस बच्चे के वीडियो देखकर, आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे ।

तभी उधर से गुजर रहे मालिक के छोटे बेटे ने इस घटना को देखा । जिस पर मजदूर, मालिक के छोटे बेटे से झगड़ा करके भाग गए । लेकिन कुछ सिक्के ( coin) वह उसी जगह पर छोड़ गए । इस घटना पर बात पर पुलिस ने तहरीर की । और मजदूरों को पकड़ा गया । थाना अध्यक्ष की माने तो अभी भी कुछ मजदूर फरार हैं । जिनके पास सिक्के हैं ।

Gold coins

यह सभी खुदाई मे मिले सिक्के सोने के बताए जा रहे हैं । और एंटीक होने की वजह से इनकी मार्केट वैल्यू बहुत है । पुलिस उन मजदूरों की जांच पर जुटी हुई है । जल्द ही कुछ ना कुछ निष्कर्ष या अपडेट निकलेगी । यह थी पूरी जौनपुर की घटना जहां पर एक कलश में कई ब्रिटिश शासन प्रणाली के सोने के सिक्के मिले है ।

ये भी पढे……… इराक में खुदाई के दौरान मिला 1342 साल मिट्टी की मस्जिद , जांच के बाद वैज्ञानिक भी हैरान ।

One thought on “जौनपुर में शौचालय की खुदाई के दौरान मजदूरों को मिले 1812 के प्राचीन काल के सोने के सिक्के । ये थी पूरी घटना |”

Leave a Reply

Your email address will not be published.